ban1.jpg

Energized & Activated
Bhojpatra Patrika

जाग्रत व अभिमंत्रित भोजपत्र कुंडली
सिद्धगुरुजी द्वारा निर्मित एवं जाग्रत  

World Famous Astrologer & Yog Dhyan Guru
Sidhguruji

Bhojpatra Patrika-

Like name denotes there is relationship between Bhojpatra & Patrika

What is Bhojpatra

The plant species Betula utilis is found in Western Himalayas. It is also known as Himalayan Silver birch or Bhojpatra. The outer bark of this plant is carefully peeled off from the tree and are used as writing material/paper. It was wellknown in ancient days as a writing material upon which the ancient manuscripts (like; Mahabharat, etc)of Hindu dharm were written. Bhojpatra is layer of a sacred tree known as Bhoj. All Vedic Yantras are made of Bhojaptra and then they are energised/pran pratishthit to get the desired effects. As per Hindu Mythology Bhojpatra Patrika is the best Remedy for Astrological & Spiritual and very effective & positive Object. It also absorbs positive energy from the environment.

 

What is Bhojpatra Patrika

This positive charged Bhojpatra when used to make Patrika or Kundali and Enerized & Activated By Sidhguruji it will give magical effect to person & also if the person use this Bhojpatra Patrika (Kundali) will make person’s aura positive.

Bhojpatra Patrika is the Supreme solution of every problem of the person. This Bhojpatra Horoscope is developed by Yogi Guru Sidhguruji after long sadhna & blessings from Adi yogi shri sadguru dev Mahaprabhuji bhagwan. 

Only Remedy (Mahaupay) is Bhojpatra Patrika for all your problems, It will rectify all dosha & mahadasha of your Horoscope and gives good effects. All 9 planets like; sun, moon, Jupiter, mars, Satarn, Marcury, Venus, Rahu & Ketu will give positive effects by this Bhojpatra Patrika.

In an Ancient period of Hindus since more than 5000 years it is used to write Ved Mantras, Upnishs, Granth & Yantras. When written & Energized  (praan pratishtha) on Bhoj patra gives the best result to overcome troubles and problems.

This Bhojpatra Patrika is at least 1000 times more powerful than any other horoscope or Kundali.

Bhojpatra Patrika is meant to remove Doshas (Grah dosh, pitra dosh,etc) and defects and activate positive Yoga (like; Rajyog, Health, Wealth & Prosperity) from horoscope. In addition, Patrika when placed to worship at Puja sthan to get auspicious outcomes.(The process of Bhojpatra Patrika Sthapna will be given by Sidhguruji)

Benefits of Bhojpatra Ptrika

This Bhojpatra Patrika is at least 1000 times more powerful than any other horoscope or Kundali.

Bhojpatra Patrika is meant to remove Doshas (Grah dosh, pitra dosh,etc) and defects and activate positive Yoga (like; Rajyog, Health, Wealth & Prosperity) from horoscope.

  • Only Remedy (Mahaupay) is Bhojpatra Patrika for all your problems

  • It will rectify all dosha & mahadasha of your Horoscope and gives good effects.

  • All 9 planets like; sun, moon, Jupiter, mars, Satarn, Marcury, Venus, Rahu & Ketu will give positive effects by this Bhojpatra Patrika.
     

Astrological Consultation Free with Bhojpatra Patrika

Bhojpatra Patrika gives good effects on your Mental, Physical & Spiritual Growth
Astrological Benefits
 
  1. Remedy to remove all Doshas & Mahadosha.
      Like; Removes Sun Dosh
               Removes Moon Dosh
               Removes Satrun Dosh
               Removes Mercury Dosh
               Removes Mars Dosh
               Removes Jupiter Dosh
               Removes Venus Dosh
               Removes Rahu Dosh
               Removes Ketu Dosh
​   2.  Remedy to remove Daridra Dosh
   3. Remedy to remove Pitra Dosh
   4. Remedy to remove Kal Sarp yog
   5. Give Benefits in Job Promotion
   6. Give Benefits in Baby Birth
   7. Give Benefits in Finance
   8. Give Benefits in New Job
   9. Give Benefits in Relationship
   10. Give Benefits in Grah Dosh or Vastu
Spiritual Benefits
 
  1. Energy enhancement
  2. Aura Healing
  3. Health Healing
  4. Wealth Healing
  5. Remove Negativity from life
  6. 5 Elements Healing
  7. Helps in Meditation by alignment with 9 Planets
​   

भोजपत्र पत्रिका

जैसा की  नाम  दर्शाता  है, भोजपत्र  और  पत्रिका  के  बीच  का सम्बन्ध  अटूट है यह भोजपत्र पत्रिका किसी भी अन्य कुंडली से कम से कम 1000 गुना अधिक शक्तिशाली है।

 

जानते है की भोजपत्र क्या है-

बैतूला यूटिलिस नामक पौधे की प्रजाति पश्चिमी हिमालय में पाई जाती है। इसे हिमालयन सिल्वर बिर्च या भोजपत्र के नाम से भी जाना जाता है। इस पौधे की बाहरी छाल को पेड़ से सावधानीपूर्वक छील दिया जाता है और लेखन सामग्री / कागज के रूप में उपयोग किया जाता है और इसे लेखन पत्र कहा जाता है। यह प्राचीन दिनों में एक लेखन सामग्री के रूप में प्रसिद्ध था जिस पर हिंदू धर्म की प्राचीन पांडुलिपियां (जैसे महाभारत आदि) लिखी गई थीं। भोजपत्र एक पवित्र वृक्ष की परत है जिसे भोज के नाम से जाना जाता है। सभी वैदिक यंत्र भोजपत्र से बने हैं और फिर वांछित प्रभाव प्राप्त करने के लिए उन्हें ऊर्जावान किया जाता है  / प्राण प्रतिष्ठा दी जाती है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार भोजपत्र यंत्र सर्वोत्तम और बहुत प्रभावी और सकारात्मक वस्तु हैं। यह पर्यावरण से सकारात्मक ऊर्जा को भी अवशोषित करता है.

भोजपत्र पत्रिका क्या है 

यह सकारात्मक चार्ज भोजपत्र जब पत्रिका या कुंडली बनाने के लिए सिद्धगुरुजी प्रयोग करते है और उसे ऊर्जावान बनाते है उसमे प्राण प्रतिष्ठित करते है तब तो यह व्यक्ति को जादुई प्रभाव देता है  और यदि व्यक्ति इस भोजपत्र पत्रिका (कुंडली) का उपयोग करता है तो व्यक्ति की आभा सकारात्मक हो जाती है । 

भोजपत्र पत्रिका आपकी कुंडली से दोषों को दूर करके अच्छे प्रभाव देने लगता है । इसके अलावा, पत्रिका से  शुभ फल प्राप्त करने के लिए पूजा स्थल पर पूजा के लिए रखा जाता है। (स्थापना की विधि सिद्धगुरुजी द्वारा बताई जाएगी)

 

कुंडली के नव ग्रह (सूर्य, बुध ,गुरु , शुक्र , शनि, राहु, केतु, मंगल, चन्द्रमा) अनुकूल होके लाभ देने लगते है

 

सभी दोषो का एक मात्र उपाय

सभी अच्छे योगो को जाग्रत करने का एक मात्र उपाय 

 

 

5000 से अधिक वर्षों से हिंदुओं के प्राचीन काल में इसका उपयोग वेद मंत्र, उपनिषद, ग्रंथ और यंत्र लिखने के लिए किया जाता है। जब भोज पत्र पर लिखा और ऊर्जावान  (प्राण प्रतिष्ठा) मुसीबतों और समस्याओं को दूर करने के लिए सबसे अच्छा परिणाम देता है।

भोजपत्र पत्रिका के लाभ
यह भोजपत्र पत्रिका किसी भी अन्य कुंडली से कम से कम 1000 गुना अधिक शक्तिशाली है।
भोजपत्र पत्रिका या कुंडली से दोषों (ग्रह दोष, पितृ दोष, आदि)  को दूर करने और सकारात्मक योग (जैसे; राजयोग, स्वास्थ्य, धन और समृद्धि) को सक्रिय करने के लिए है।
आपकी सभी समस्याओं का एकमात्र उपाय भोजपत्र पत्रिका है यह आपकी कुंडली के सभी दोष और महादशा को ठीक करेगा और अच्छा प्रभाव देगा।
सभी 9 ग्रह जैसे; सूर्य, चंद्रमा, बृहस्पति, मंगल, शनि, मंगल, शुक्र, राहु और केतु इस भोजपत्र पत्रिका से सकारात्मक प्रभाव देंगे।

भोजपत्र पत्रिका आपके मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक विकास पर अच्छा प्रभाव देती है
ज्योतिषीय लाभ
  1. सभी दोषों और महादोषों को दूर करने का उपाय। जैसे; सूर्य दोष को दूर करता है
    चंद्र दोष को दूर करता है
    शनि दोष को दूर करता है
    बुध दोष को दूर करता है
    मंगल दोष को दूर करता है
    बृहस्पति दोष को दूर करता है
    शुक्र दोष को दूर करता है
    राहु दोष को दूर करता है
    केतु दोष को दूर करता है ​   
आध्यात्मिक लाभ
1.   ऊर्जा में वृद्धि होती है  
2.   औरा/आभा हीलिंग
3.   स्वास्थ्य में 
वृद्धि होती है  
4.  धन में 
वृद्धि होती है  
5.  जीवन से नकारात्मकता दूर करें
6.   5 तत्व में 
वृद्धि होती है  
7.   9 ग्रहों के साथ संरेखण द्वारा ध्यान में मदद करता है 
2. दरिद्र दोष को दूर करने का एक मात्र उपाय भोजपत्र पत्रिका
3. पितृ दोष दूर करने का एक मात्र उपाय भोजपत्र पत्रिका   
4. कालसर्प योग को दूर करने का एक मात्र उपाय भोजपत्र पत्रिका   
5. जॉब प्रमोशन में लाभ दें
6. बच्चे के जन्म में लाभ दें
7. धन में लाभ दें
8. नई नौकरी में लाभ दें
9. रिश्ते में लाभ दें
10. ग्रह दोष या वास्तु में लाभ दें

To Avail Bhojpatra Patrika Fill the form and make Payment
भोजपत्र प्राप्त करने के लिए फॉर्म जमा करे और पेमेंट करे

Send Screen shot of Payment on our WhatsApp no. 9171115821
पेमेंट का स्क्रीन शॉट संस्था के WhatsApp no. 9171115821 पे भेजिए


Donation for Bhojpatra Patrika is Rs 5100/-  

Form to Avail Bhojpatra Patrika

Thanks for submitting! Send your Details like: Date, Time & Place of Birth

Astrological Consultation Free with Bhojpatra Patrika

Make Payment 

upi.jpg

9171115821@ybl

paytm.jpg

9171115821

9171115821

googlepay.png

9171115821

bhojpatrakundalisdyk.JPG